| मुख्य सामग्री पर जाएं | नेविगेशन में जाएं
Indian Goverment
 
नया क्या है
Web Standardization Initiative (WSI)
मीडिया कवरेज
सफलता की कहानियां
संदेश
भाषा कम्प्यूटिंग समस्याएँ रिपोर्ट करें
भाषा तकनीक के खिलाड़ी
भाषा तकनीक के उत्पाद
संबंधित कड़ियां
अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
RTI Act - 2005
 
Indian Language Technology Proliferation and Deployment Centre
India National Portal
Digital India Portal
  Skip Navigation Linksहोम/घर Print   Font increase   Font size reset   Font size decrease
TDIL Banner

मुफ्त भाषा सॉफ्टवेयर एवं टूल्स

असमी | बांग्ला | बोडो | डोगरी | गुजराती | हिंदी | कन्नड़ | कश्मीरी | कोंकणी | मैथिली | मणिपुरी | मलयालम | मराठी | नेपाली | उड़िया | पंजाबी | संस्कृत | संथाली | सिंधी | तमिल | तेलुगु | उर्दू

भारतीय भाषा तकनीक प्रसार एवं प्रस्तरण केंद्र

मशीनी अनुवाद | मानकीकरण | वैधकारक/ स्थानीयकरण टूल्स | भाषाई संसाधन एवं टूल्स | एप्लिकेशन शोकेस | अनुसंधान क्षेत्र | टेक्नोलॉजी हैंडशेक | IPR

भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (DeitY), संचार व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MC&IT) द्वारा आरंभ किए गए कार्यक्रम भारतीय भाषाओं के लिए प्रौद्योगिकी विकास (TDIL) कार्यक्रम का उद्देश्य बिना किसी भाषा अवरोध के सूचना प्रोसेसिंग उपकरण और तकनीक का विकास; बहुभाषी ज्ञान संसाधन में पहुँच; और नवीन प्रयोक्ता उत्पादों और सेवाओं से जोड़ना है।

यह कार्यक्रम मौजूदा और भविष्य के भाषा तकनीक संबंधी मानकों में भारतीय भाषाओं का पर्याप्त प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए ISO, UNICODE, वर्ल्ड-वाइड-वेब कंसोर्शियम (W3C) और BIS (भारतीय मानक ब्यूरो) जैसे अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय मानकीकरण निकायों में सक्रिय भागीदारी के माध्यम से भाषा प्रौद्योगिकी के मानकीकरण को बढ़ावा देता है.

Valid XHTML 1.0 Transitional Valid CSS! Level A conformance icon, 
          W3C-WAI Web Content Accessibility Guidelines 1.0   
Website Last Updated on : 07 June 2017