| Skip to main content | Skip to Navigation
Indian Goverment
 
What's New
Web Standardization Initiative (WSI)
Media Coverage
Success Stories
Messages
Report Language Computing Issues
Language Technology Players
Language Technology Products
Related Links
Frequently Asked Questions
RTI Act - 2005
 
Indian Language Technology Proliferation and Deployment Centre
India National Portal
Digital India Portal
  Skip Navigation LinksHome ->Archives ->Computerisatin in Hindi_2 Print   Font increase   Font size reset   Font size decrease

कम्प्यूटर पर हिन्दी तथा भारतीय भाषाओं में काम करने के लिए सामान्य प्रयोजन के समाधान

सामान्य प्रयोजन के समाधान का तात्पर्य ऐसी सुविधा से है जिसके माध्यम से कम्प्यूटर में मूलभूत प्रोग्रामों अर्थात वर्डस्टार, डीबेस, लोटस 1-2-3, फॉक्सप्रो, आदि में कोई परिवर्तन किए बिना ही उनपर हिन्दी तथा भारतीय भाषाओं में भी इनपुट/आउटपुट संभव हो । इस प्रयोजन से इस समय दो समाधान उपलब्ध हैं :

हार्डवेयर समाधान
इलेक्ट्रॉनिकी विभाग द्वारा आरम्भ की गई एक परियोजना के अन्तर्गत जिस्ट प्रौद्योगिकी (GRAPHICS AND INTELLIGENCE BASED SCRIPT TECHNOLOGY) का विकास भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) कानपुर में किया गया। इस प्रौद्योगिकी पर आधारित एक एकीकृत देवनागरी टर्मिनल का विकास 1984 में किया गया जिसका प्रयोग यूनिक्स पर चलने वाले कम्प्यूटरों पर किया जा सकता था । बाद में यह महसूस किया गया कि चूँकि सभी भारतीय भाषाएँ एक ही ध्वानिक वर्ण की कोटि में आते हैं, इसलिए इसी प्रौद्योगिकी के आधार पर बहुभाषी समाधान का विकास किया जा सकता है । तदनुसार, इस पर आगे कार्य किया गया और जिस्ट प्रौद्योगिकी में बहुभाषी संसाधन की क्षमता विकसित करके अंग्रेजी तथा विभिन्न भारतीय लिपियों का समावेश किया गया ।
वर्ष 1988 में उन्नत अभिकलन विकास केन्द्र (C-DAC)के गठन के पश्चात जिस्ट प्रौद्योगिकी पर और आगे विकास का कार्य वहाँ किया गया तथा डॉस परिवेश में कार्य करने के लिए डॉस IBM PC अनुरूपी GIST add-on हार्डवेयर कार्ड का विकास हुआ और साथ ही अंग्रेजी तथा भारतीय भाषाओं की लिपियों के साथ-साथ पर्सो-अरबी, यूरोपीय, रूसी, सिंहल, तिब्बती, भूटानी तथा थाई भाषाओं का भी प्रावधान किया गया । जिस्ट प्रौद्योगिकी मे इस समय भारतीय भाषाएँ शामिल हैं :
1. असमी     2. बंगला     3. हिन्दी
4. मराठी     5. गुजराती     6. कन्नड़
7. मलयालम     8. नेपाली     9. उड़िया
10. पंजाबी     11. तमिल     12. तेलुगू
जिस्ट प्रौद्योगिकी शब्द संसाधन के लिए स्क्रिप्ट पेज पर तथा डेटा संसाधन के लिए डेटा पेज पर कार्य करती है । इसमें अंग्रेजी के विद्यमान पैकेजों (वर्ड स्टार, डीबेस आदि) का इस्तेमाल विभिन्न भारतीय भाषाओं के लिए भी किया जा सकता है । इस प्रौद्योगिकी के लिए INSCRIPT कुंजीपटल का ढाँचा निर्धारित किया गया । इस ढाँचे की मुख्य विशेषता यह है कि अलग-अलग भाषाओं के लिए अलग-अलग कुंजीपटल लेने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि एक ही कुंजीपटल का प्रयोग विभिन्न भाषाओं के लिए किया जा सकता है । इसकी एक अन्य विशेषता यह है कि यह ध्वन्यात्मक कुंजीपटल है अर्थात किसी शब्द के उच्चारण में वर्ण जिस क्रम में उच्चारित होते हैं, उसको उसी क्रम में टाइप किया जाता है (उदाहरण के लिए 'पारदर्शिता' लिखने के लिए टाइप करने का क्रम होगा पआअरअदअर्अशअअतिआ) । इसमें भारतीय भाषाओं के बीच एक लिपि से दूसरी लिपि में परिवर्तन अर्थात लिप्यंतरण (transliteration) की सुविधा है। मान लीजिए श्री पिल्लै को उत्तर प्रदेश की जनसभा में हिन्दी में भाषण देना लेकि वे हिन्दी पढ़ना व लिखना या धारा प्रवाह रूप में बोलना नहीं जानते । ऐसी स्थिति में हिन्दी में तैयार उनके भाषण का लिप्यंतरण मलयालम में कर देने से उन्हें मलयालम लिपि में लिखे उस भाषण को पढ़कर हिन्दी में भाषण देने में कोई कठिनाई नहीं होगी ।
UNIX परिवेश में काम करने के लिए जिस्ट टर्मिनल भी उपलब्ध हैं ।
इस प्रौद्योगिकी पर विभिन्न अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर भी विकसित किए गए हैं, जैसे कि :

डेटा संसाधन
डेटा संसाधन के प्रयोजन से कोई अलग पैकेज नहीं बनाया गया है, बल्कि GIST add-on कार्ड के माध्यम से IBM अनुरूपी dBASE, Quattro, Lotus 1-2-3, Foxplus आदि जैसे पैकेजों पर Database तैयार किए जा सकते हैं। भारतीय भाषाओं के Database लिए Sorting तथा Indexing अथवा अन्य कोई भी कार्य भी उतनी ही सरलता से किए जा सकते हैं जैसा अंग्रेज़ी में ।
इसके अलावा, डेटा संसाधन के लिए GIST Shell नामक एक सॉफ्टवेयर समाधान भी तैयार किया गया है, जिसके माध्यम से उपर्युक्त अनुप्रयोग सॉफ्टवेयरों पर किसी भी भारतीय भाषा में डेटा संसाधन किया जा सकता है ।

शब्द संसाधन (DOS पर)
Advanced Script Processor (ASP)/Gist Word Processor (GWP) तथा Apex Language Processor (ALP) । ये पैकेज लोकप्रिय वर्डस्टार सॉफ्टवेयर की तरह ही हैं तथा पैकेजों के साथ 60,000 मूलभूत हिन्दी शब्दों का एक शब्दकोश भी उपलब्ध कराया गया है जिससे वर्तनी की जाँच संभव होती है । इन पैकेजों का सॉफ्टवेयर संस्करण भी तैयार हो गया है, जिनके मामले में GIST add-on कार्ड की आवश्यकता नहीं होती । Novell Netware के लिए ALP का अलग संस्करण भी उपलब्ध हैं ।

शब्द संसाधन (UNIX पर)
वर्तनी परीक्षक सहित ALP-UNIX बहुभाषी शब्द संसाधक UNIX/XENIX वातावरण में काम करने के लिए तैयार किया गया है तथा इसमें जिस्ट टर्मिनल की आवश्यकता होती है ।

शब्द संसाधन (WINDOWS पर)
Windows परिवेश में हिन्दी तथा भारतीय भाषाओं में शब्द संसाधन के लिए LEAP नामक एक सॉफ्टवेयर पैकेज तैयार किया गया है । इस पैकेज पर कार्य करने के लिए GIST add-on कार्ड लगाने की आवश्यकता नहीं होती तथा लोकप्रिय विंडोज़ पैकेज के माध्यम से ही सभी भारतीय भाषाओं में कार्य किया जा सकता है ।

डेस्क टॉप प्रकाशन
ISM नामक सॉफ्टवेयर डेस्क टॉप प्रकाशन के प्रयोजन से उपलब्ध है । इस सॉफ्टवेयर का प्रयोग वेंचुरा (GEM)तथा MS-WINDOWS के अन्तर्गत लगभग सभी DTP पैकेजों जैसेकि Page Maker, Corel Draw, MS-Word, Quark Express किया जा सकता है । जिस्ट उत्पादों के किसी भी पैकेज का इस्तेमाल करके तैयार की गई किसी भी फाइल को DTP पैकेजों में अन्तरित किया जा सकता है । प्रत्येक लिपि के लिए विभिन्न प्रकार के फोन्ट उपलब्ध कराए गए हैं तथा यह विंडोज़ के लिए Novell Netware पर भी उपलब्ध हैं। ISM पैकेज में मैकिन्टॉश कम्प्यूटर प्रणालियों के लिए भी तैयार किया गया और उसमें वे सभी विशेषताएँ मौजूद हैं जो Windows पर उपलब्ध हैं ।

टीवी/वीडियो अनुप्रयोग
टीवी मीडिया के लिए क्ष्एग्-घ्क्पर कैप्शन तैयार करने के लिए GIST VideoWorks नामक एक हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर उपलब्ध है । इसमें रंगीन कैप्शनों के बहुभाषी मूल पाठ तथा ग्राफिक्स शामिल हैं तथा कम कीमत पर वीडियो कैप्शन तैयार करने, सब-टाइटल बनाने तथा Teleprompting अनुप्रयोगों की उच्च क्षमता है । Autodesk 3D Studio, AT&T Topaaz, आदि जैसे ग्राफिक डिजाइन, सजीवीकरण एवं वीडियोग्राफिक सॉफ्टवेयर कफेस के लिए क्ष्च्ग्का भी विकास किया गया है और वीडियो कैप्शन, सजीवीकरण, आदि के लिए इन अनुप्रयोगों के साथ ISM का प्रयोग किया जा सकता है ।

जिस्ट प्रौद्योगिकी के गुण-दोष :

गुण

::भारतीय भाषाओं में बहुभाषी संसाधन की सुविधा
::कुछ विदेशी भाषाओं का समावेश
::क्षमताओं में वृद्धि करके नए संस्करण तैयार करने की सुविधा
::सी-डैक में अनुसंधान तथा विकास का सुदृढ़ आधार तथा नए-नए अनुप्रयोगों और विशेषताओं के लिए सुविधाओं के विकास की क्षमता
::हार्डवेयर कार्ड तथा सॉफ्टवेयर उत्पादों के विनिर्माण का व्यापक आधार
::मानक कोड तथा कुंजीपटल के डिजाइन (INSCRIPT) का प्रयोग
दोष

::अतिरिक्त हार्डवेयर, प्रतिष्ठापन तथा अनुरक्षण की आवश्यकता (सॉफ्टवेयर समाधानों को छोड़कर)
::हार्डवेयर कार्ड के प्रतिष्ठापन के मामले में कुछ-कुछ क्षेत्रों में कम्प्यूटर द्वारा स्वीकार नहीं किया जाना तथा सरल प्रचालन में बाधा उत्पन्न होना
::हार्डवेयर का दर्जा बढ़ाने के लिए नया कार्ड खरीदना आवश्यक
::स्वयं ग्राफिक्स कार्ड होने के कारण ग्राफिक्स मोड के अन्य लोकप्रिय पैकेजों का इस्तेमाल भारतीय भाषाओं में संभव नहीं
::नेटवर्किंग के लिए प्रत्येक नोड पर जिस्ट कार्ड का होना अथवा यूनिक्स परिवेश आवश्यक
::- केवल INSCRIPT र्डिजाइन का प्रयोग होने के कारण टाइपराइटर (Remington) डिजाइन पर कार्य करने में अभ्यस्त कार्मिकों के लिए कम्प्यूटर पर कार्य करने में असुविधा ।

सॉफ्टवेयर समाधान :

जिस प्रकार जिस्ट हार्डवेयर कार्ड कम्प्यूटर पर भारतीय भाषाओं में काम करने के लिए एक हार्डवेयर समाधान उपलब्ध कराता है, उसी प्रकार मेसर्स आरके कम्प्यूटर रिसर्च फाउण्डेशन, नई दिल्ली द्वारा विकसित सुलिपि एक सॉफ्टवेयर समाधान उपलब्ध कराता है । इसमे भी 8-बिट PC-ISCII अथवा 7-बिट ISCII अक्षर समूहों का इस्तेमाल किया गया है। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से भी अंग्रेजी के Word Star, dBase, Lotus, Basic आदि जैसे लोकप्रिय पैकेजों पर अंग्रेजी तथा हिन्दी में इनपुट/आउटपुट संभव है । इस समय इस पैकेज में बहुभाषी संसाधन की सुविधा उपलब्ध नहीं है । दस्तावेज तैयार करने के लिए इस प्रौद्योगिकी पर आधारित उत्पाद नीचे दिए अनुसार हैं :

सुट्रांस : इस उत्पाद के माध्यम से सभी रिपोर्टों का हिन्दी अथवा द्विभाषी रूप में मुद्रण संभव है और इस प्रयोजन से अंग्रेजी में पहले से ही उपलब्ध डेटा को दुबारा हिन्दी में तैयार करने अथवा कम्प्यूटर प्रोग्राम में किसी प्रकार का परिवर्तन करने की आवश्यकता नहीं है । एक ही विषय पर बार-बार तैयार की जाने वाली रिपोर्ट एक बार के प्रयास से ही कुछ ही घंटों में हिन्दी में रूपान्तरित की जा सकती है ।
सुलेटर : इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऐसे आंतरिक या बाहरी मानक पत्रों का रूपान्तर किया जा सकता है जो कम्प्यूटर प्रणालियों द्वारा तारीख, नाम, राशि आदि ब्यौरे डेटाबेस से लेकर मुद्रित किए जाते हैं ।
सुवर्ड : यह मेलमर्ज की सुविधा युक्त वर्ड स्टार जैसा एक द्विभाषी शब्द संसाधक है ।
सुविंडोज :यह सुलिपि सॉफ्टवेयर के माध्यम से विंडोज़ पर कार्य करने के लिए तैयार किया गया पैकेज, जिसकी सहायता से हर प्रकार के डीटीपी पैकेजों तथा ग्राफिक्स पैकेजों पर द्विभाषी रूप में कार्य किया जा सकता है ।
लैन सम्पर्क सुलिपि के सभी उत्पादों में लैन (स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क) सम्पर्क की सुविधा उपलब्ध है ।

इस समाधान के गुण-दोष :

गुण

::किसी प्रकार के हार्डवेयर add-on कार्ड की आवश्यकता नहीं है और इस कारण हार्डवेयर प्रतिष्ठापन तथा अनुरक्षण की आवश्यकता नही है
::सॉफ्टवेयर का प्रतिष्ठापन आसान
::मानक कोड तथा कुंजीपटल (INSCRIPT)के साथ-साथ टाइपराइटर कुंजीपटल के डिज़ाइन का प्रयोग
::कम्प्यूटर नेटवर्किंग के लिए सर्वर स्तर पर बहु-प्रयोक्ता संस्करण की एक ही प्रति आवश्यक ।

दोष

::बहुभाषी संसाधन की सुविधा उपलब्ध नहीं है
::CGA adapters के मामले में अतिरिक्त प्रदर्श adapter

<<Previous <<पीछे Next>> आगे>>
Valid XHTML 1.0 Transitional Valid CSS! Level A conformance icon, 
          W3C-WAI Web Content Accessibility Guidelines 1.0   
Website Last Updated on : 12 Jan 2017